राजस्व प्रकरणों का जिम्मा अपर कलेक्टर दीपक आर्य को

राजस्व प्रकरणों का जिम्मा अपर कलेक्टर दीपक आर्य को

उज्जैन | नए अपर कलेक्टर दीपक आर्य की ज्वाइनिंग के साथ ही जिला मुख्यालय पर चार अपर कलेक्टर हो गए हैं। कलेक्टर मनीषसिंह ने चारों के बीच नए सिरे से कार्यविभाजन कर जिम्मेदारियां सौंपी हैं। आर्य को सभी तहसीलों के राजस्व प्रकरणों के निराकरण की महती जिम्मेदारी सौंपी है। अपर कलेक्टर जीएस डाबर एडीएम के रूप में काम करते रहेंगे। कलेक्टर ने रविवार को आदेश जारी कर आर्य को उज्जैन, तराना, बड़नगर, घट्टिया, महिदपुर व…

और पढ़े..

ये हैं उज्जैन की पहली महिला निगमायुक्त, मुफ्त में देती थीं IAS कोचिंग

ये हैं उज्जैन की पहली महिला निगमायुक्त, मुफ्त में देती थीं IAS कोचिंग

उज्जैन | निगमायुक्त बनाई गई युवा आइएएस प्रतिभा पाल सामाजिक सरोकारों से भी जुड़ी हैं। वे सतना में आइएएस के लिए विद्यार्थियों को नि:शुल्क कोचिंग भी दे रही थी। मूलत: यूपी के बदायूं शहर की रहने वाली पाल २०१२ बैच की आइएएस व अविवाहित हैं। इस पदस्थी के पहले वह नरसिंहपुर में जिला पंचायत सीइओ रह चुकी हैं। उज्जैन निगम उनके लिए बड़ी चुनौती रहेगी। इधर आदेश के चंद घंटों बाद गुरुवार दोपहर निगमायुक्त डॉ….

और पढ़े..

गंभीर डैम में 63 दिन का पानी शेष, चैनल कटिंग से बुझेगी प्यास

गंभीर डैम में 63 दिन का पानी शेष, चैनल कटिंग से बुझेगी प्यास

उज्जैन | यदि मानसून समय से आया तो गंभीर डैम इस बार बारिश तक शहर की प्यास एक दिन छोड़कर बुझाता रहेगा। फिलहाल डैम में ४४४ एमसीएफटी पानी संग्रहित है। यूं तो शहर में एक दिन छोड़कर जलप्रदाय हो रहा है, लेकिन गर्मी में वाष्पीकरण व सीपेजिंग के कारण रोजाना डैम से औसत ७ एमसीएफटी पानी कम हो रहा है। इस मान से ६३ दिन जितना पानी बचा है। वहीं कैचमेंट एरिया के दूरदराज इलाकों…

और पढ़े..

विधानसभा चुनाव तक टलेगा केडीगेट से ईमली तिराहे तक मार्ग चौड़ीकरण

विधानसभा चुनाव तक टलेगा केडीगेट से ईमली तिराहे तक मार्ग चौड़ीकरण

उज्जैन | केडीगेट से ईमली तिराहे तक मार्ग चौड़ीकरण की कार्रवाई फिलहाल विधानसभा चुनाव-2018 तक टल सकती है। स्थगन की मुख्य वजह महीनेभर बाद वर्षाकाल प्रारंभ होना बताई गई है। नगर निगम प्रशासन का मानना है कि मार्ग चौड़ीकरण के लिए अभी चि-ति मकानों की तुड़ाई शुरु कराई तो मार्ग बनने से पहले बारिश शुरु हो जाएगी और लोगों को इतना वक्त भी नहीं मिलेगा कि वे अपने टूटे-क्षतिग्रस्त मकानों की मरम्मत करा सकें। मालूम…

और पढ़े..

‘एक साल से बोल रहा हूं, शिप्रा गंदी है… आपको शर्म नहीं आती, मुझे तो आती है’

‘एक साल से बोल रहा हूं, शिप्रा गंदी है… आपको शर्म नहीं आती, मुझे तो आती है’

उज्जैन | शिप्रा नदी की दुर्दशा को देख संभागायुक्त एमबी ओझा के सब्र का बांध मंगलवार को टूट गया। नगर निगम के अफसरों से कहा पिछले एक साल से कह रहा हूं कि शिप्रा गंदी है, प्रदूषण बढ़ रहा है इसे साफ करो… आपको शर्म नहीं आ रही लेकिन मुझे तो आ रही है। मैं कहता हूं काम करो तो आप करोड़ों के टेंडर निकाल रहे हैं पर काम चालू नहीं हो रहा। अब शिप्रा…

और पढ़े..

सिंहस्थ में DIG रहे गुप्ता को उज्जैन रेंज IG बनाया, बोले- महाकाल ने बुलाया

सिंहस्थ में DIG रहे गुप्ता को उज्जैन रेंज IG बनाया, बोले- महाकाल ने बुलाया

उज्जैन | उज्जैन में एसपी, सिंहस्थ में डीआइजी रहे राकेश गुप्ता का उज्जैन रेंज आइजी बनाया गया है। इंदौर में स्पेशल आम्र्स फोर्स में आइजी गुप्ता की महज डेढ साल में ही उज्जैन में पदस्थी हो गई है। वहीं पांच वर्षों से उज्जैन रेंज के एडीजी वी मधुकुमार का भोपाल स्थानांतरण हुआ है। उन्हें आर्थिक अपराध अन्वेषण प्रकोष्ठ में अतिरिक्त महानिदेशक बनाया गया है। राज्यशासन ने मंगलवार को आइपीएस अफसरों के स्थानांतरण की सूची जारी…

और पढ़े..

मोबाइल बताएगा, आ गई कचरा गाड़ी; और भी बहुत कुछ है उज्जयिनी एप में

मोबाइल बताएगा, आ गई कचरा गाड़ी; और भी बहुत कुछ है उज्जयिनी एप में

उज्जैन | स्मार्ट सिटी कंपनी ने पब्लिक सर्विस को स्मार्ट बनाने के लिए अपना स्मार्ट ऐप ‘उज्जैयिनी एप्प’ आम यूजर्स के लिए लांच कर दिया है। शुरुआत में उज्जैयिनी ऐप में कचरा प्रबंधन, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, महिला सुरक्षा को प्रमुखता से शामिल किया गया है। हालांकि नई लांचिंग और प्रचार-प्रसार की कमी के कारण अभी सिर्फ १०० यूजर्स ने ही इस ऐप को डाउनलोड किया है। शहरवासियों को स्मार्ट सिटी में दैनिक जरूरत से जुड़ी विभिन्न…

और पढ़े..

महाकाल में अब इस अखाड़े का रहेगा दखल…अफसर नहीं कर पाएंगे मनमानी

महाकाल में अब इस अखाड़े का रहेगा दखल…अफसर नहीं कर पाएंगे मनमानी

उज्जैन | सुप्रीम कोर्ट ने महाकाल मंदिर प्रबंध समिति और पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी को मंदिर का स्टेक होल्डर (हिस्सेदार ) माना है। दोनों को शिवलिंग का नुकसान, क्षरण नहीं हो इसके लिए जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया और आर्चियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की अनुशंसा का क्रियान्वयन करने के साथ समय- समय पर सुझाव देने के आदेश भी दिए हैं। पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के मुख्य कानूनी सलाहकार और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अभिभाषक मुकेश खरे ने बताया…

और पढ़े..

आखिर किस सवाल का महापौर ने मंच से दिया मुंहतोड़ जवाब

आखिर किस सवाल का महापौर ने मंच से दिया मुंहतोड़ जवाब

उज्जैन | शुद्ध पेयजल की करीब २० साल से बाट जोह रहे २८ कॉलोनियों के २० हजार से अधिक रहवासियों का इंतजार खत्म होने वाला है। नगर निगम पीएचई यहां ४.८१ करोड़ रुपए की लागत से पानी की पाइप लाइन बिछाएगा। लंबी मांग और कई बार आंदोलन के बाद इस जरूरी कार्य का रास्ता साफ हुआ है। इधर महापौर ने मक्सीरोड सब्जीमंडी में बन रहे बायोमेथेनेशन प्लांट को उस सवाल का मुंह तोड़ जवाब करार…

और पढ़े..

सस्ते आवास तैयार करने में निगम फिसड्डी… बिगड़ गई भोपाल तक छवि

सस्ते आवास तैयार करने में निगम फिसड्डी… बिगड़ गई भोपाल तक छवि

उज्जैन | प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रोजेक्ट पूरा करने में नगर निगम फिसड्डी साबित हो रहा है। आगर रोड कानीपुरा में निर्माणाधीन मल्टी का काम काफी धीमा चल रहा है। जिस समय तक ४३६ में ये आधे आवास बनकर तैयार हो जाना थे, तब तक केवल प्लींथ लेवल काम ही हुआ है। काम में लेटलतीफी के चलते भोपाल तक निगम की छवि खराब हो रही है। जुलाई २०१७ में निगम ने गुजरात की ओमिनी प्रोजेक्ट…

और पढ़े..
1 2